Thursday, February 24, 2011

ये स्टार वाले बौरा गए हैं


जी हां लगता हैं स्टार न्यूज़ वाले बौरा गए हैं । कल स्टार न्यूज देख रहा था । ऐसा लगा मानों स्टार न्यूज - आपको रखे आगे ना हो बल्कि स्टार न्यूज - कांग्रेस का मुख पत्र हो । खबरें चाहे कॉमन वेल्थ से जुड़ी हुई हो या फिर बाबा रामदेव से । हर खबर को देखने के बाद ऐसा लगा मानो कोई कांग्रेस का प्रवक्ता अपनी बात रख रहा हो। देश के नंबर दो चैनल से ऐसी उम्मीद तो कोई नहीं रखता हैं । कहा गया हैं मीडिया समाज का दर्पण होता हैं । लेकिन अगर दर्पण ऐसा होता हैं तो फिर दर्पण को साफ करनें की जरूरत हैं । हर तरफ पेड न्यूज का हल्ला हैं । एसी रूम में बैठकर ना जाने जाने क्या भाषम देते हैं । फिर अगले सेकेंड ही शुरू हो जाता हैं पेड न्यूज का खेल । अब ये पेज न्यूज था । या फिर सरकार को खुश करने की कोशिश । ये तो स्टार न्यूज ही जानें । पर एक दर्शक तो खूब समझता हैं । इन चीजों को । मगर बेचारा दर्शक भी करे तो क्या करे । सबको पता हैं । इस लोकतांत्रिक देश में लोकतंत्र की अवाज की कितनी कमजोर है ।

अग्निपथ - हरिवंश राय बच्चन

वृक्ष हों भले खड़े,

हों घने हों बड़े,

एक पत्र छांह भी,

मांग मत, मांग मत, मांग मत,

अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ


तू न थकेगा कभी,

तू न रुकेगा कभी,

तू न मुड़ेगा कभी,

कर शपथ, कर शपथ, कर शपथ,

अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ


यह महान दृश्य है,

चल रहा मनुष्य है,

अश्रु श्वेत रक्त से,

लथपथ लथपथ लथपथ,

अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ-

-- हरिवंश राय बच्चन